HIGHLIGHTS

Friday, January 11, 2019

Monday, January 7, 2019

नज़रिया : क़र्ज़माफ़ी और किसानों की समस्याएँ ✍ #सिफ़र

January 07, 2019
भारत को एक कृषि प्रधान देश माना जाता है लेकिन फिर भी आज देश में किसानों की स्तिथि गंभीर चिंता का विषय है। किसानों की समस्याओं को कभी भी ...

Thursday, January 3, 2019

नज़रिया : पूर्व प्रधानमंत्री के कार्यकाल पर आधारित फिल्म क्या निष्पक्ष साबित होगी ? ✍ #सिफ़र

January 03, 2019
पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के प्रधान सचिव रहे संजय बारू की किताब पर आधारित फिल्म ''द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर'...

Tuesday, January 1, 2019

श्रद्धांजलि - अभिनय और कलम के जादूगर क़ादर खान

January 01, 2019
साल 2019 का पहला दिन एक बुरी खबर साथ लेकर आया मशहूर बॉलीवुड कलाकार, लेखक/ निदेशक, क़ादर ख़ान अब हमारे बीच नही रहे, क़ादर ख़ान सिने जगत का ए...

Wednesday, December 26, 2018

रिज़र्व बैंक और सरकार का टकराव और अर्थव्यवस्था की बिगड़ती हालत - ✍ मुकेश असीम

December 26, 2018
आखि़र 10 दिसम्बर को रिज़र्व बैंक के गवर्नर ऊर्जित पटेल के इस्तीफ़े और 11 दिसम्बर को सरकार द्वारा वित्त  मंत्रालय में पूर्व सचिव तथा नोटबन्...

Tuesday, December 25, 2018

मेरा सांता- (लघुकथा) - लेखक : डॉ. चंद्रेश कुमार छतलानी

December 25, 2018
रात गहरा गयी थी, हल्की सी आहट हुई, सुनते ही उसने आँखें खोल दीं, उसके कानों में माँ के कहे शब्द गूँज रहे  थे,  "सफ़ेद कॉलर और कफ़...

Friday, December 14, 2018

मौक़ापरस्त मोहरे - (लघुकथा) - लेखक : डॉ. चंद्रेश कुमार छतलानी

December 14, 2018
वह तो रोज़ की तरह ही नींद से जागा था, लेकिन देखा कि उसके द्वारा रात में बिछाये गए शतरंज के सारे मोहरे सवेरे उजाला होते ही अपने आप चल रहे है...

Wednesday, December 12, 2018

चुनाव परिणाम और जनता का सन्देश ✍ #सिफ़र

December 12, 2018
पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम आ चुके हैं। इन चुनावों  को लोकसभा चुनाव से पहले सेमीफइनल माना  जा रहा था।  चुनाव में बीजेप...

Wednesday, December 5, 2018

झूठे मुखौटे - (लघुकथा) - लेखक : डॉ. चंद्रेश कुमार छतलानी

December 05, 2018
साथ-साथ खड़े दो लोगों ने आसपास किसी को न पाकर सालों बाद अपने मुखौटे उतारे। दोनों एक-दूसरे के 'दोस्त' थे। उन्होंने एक दूसरे को गले ल...

Wednesday, November 28, 2018

गानों की दुनिया का अज़ीम सितारा था, मोहम्मद अज़ीज़ प्यारा था... ✍ रवीश कुमार

November 28, 2018
काम की व्यस्तता के बीच हमारे अज़ीज़ मोहम्मद अज़ीज़ दुनिया को विदा कर गए. मोहम्मद रफ़ी के क़रीब इनकी आवाज़ पहचानी गई लेकिन अज़ीज़ का अपना म...