HIGHLIGHTS

Friday, April 28, 2017

अलविदा दयावान (अभिनेता विनोद खन्ना को श्रद्धांजलि )

 6  अक्टूबर 1946 को पाकिस्तान के पेशावर ज़िले में जन्मे विनोद खन्ना का 70 साल की  उम्र में 27 अप्रैल 2017 को लम्बी बिमारी के चलते निधन हो गया। विनोद खन्ना अपने समय के बॉलीवुड के सुपरस्टार रहे हैं उन्होंने  लगभग 140 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया। विनोद खन्ना ने अपने अभिनय के सफर की शुरुआत वर्ष 1968 में सुनील दत्त की फिल्म ''मन का मीत'' से खलनायक के रूप की थी।  वर्ष 1977 में रिलीज़ हुई फिल्म ''अमर अकबर ,एंथोनी'' ने सफलता की ऊंचाइयों को छुआ, इस फिल्म में उनके साथ अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर ने भी काम किया।  ''अमर अकबर ,एंथोनी'' में विनोद खन्ना के निभाए इंस्पेक्टर अमर के किरदार को भला कोण भूल सकता है ? 


मुक़द्दर का सिकंदर, परवरिश, दयावान, मेरे अपने, मेरा गांव  मेरा देश, हेरा फेरी, खून पसीना, क़ुरबानी उनकी बेहतरीन और यादगार फिल्मों में से हैं। फिल्म ''हाथ की  सफाई'' के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ट सह अभिनेता का फिल्मफेयर पुरस्कार मिला था।  वर्ष 1999 ने उन्हें लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया।  छोटे परदे पर उन्होंने ''मेरे अपने'' सीरियल में एक महत्वपूर्ण किरदार निभाया। विनोद खन्ना की आखरी फिल्म सलमान की ''दबंग 2'' थी जिसमे उन्होंने सलमान खान के पिता का किरदार निभाया।  



विनोद खन्ना ने केवल फिल्मों में ही नहीं अपितु राजनीती में भी सफलता प्राप्त की । वर्ष  1997 में विनोद खन्ना ने राजनीति के क्षेत्र में क़दम रखा और भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर गुरुदासपुर लोकसभा सीट (पंजाब) से सांसद के रूप में निर्वाचित हुए। 1999 और 2004 के चुनाव में भी वो इसी सीट से सांसद निर्वाचित हुए और 2002-03 में तत्कालीन अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में पर्यटन एवं संस्कृति राज्यमंत्री बने।  वर्तमान में भी वो गुरुदासपुर लोकसभा सीट (पंजाब) से सांसद थे। 



विनोद खन्ना ध्यान, संगीत, क्रिकेट, बागवानी, फोटोग्राफी, ड्राइविंग के शौकीन थे उन्हें बैडमिंटन खेलना भी बहुत पसंद था।  विनोद खन्ना आध्यात्मिक गुरु ओशो से बहुत प्रभावित थे।  जिसके कारण  वो अपने फ़िल्मी सफर  को बीच में छोड़कर अमेरिका चले गया जहा उन्होंने लगभग 5 साल ओशो के साथ बिताये। 

विनोद खन्ना  ने अपने अभिनय के ज़रिये सदा  अपने प्रशंकों के दिलों पर राज किया है।  उनका निधन  बॉलीवुड के लिए एक अपूरणीय क्षत्रि है।   उनके निधन से बॉलीवुड में भी शोक का माहौल है। 27 तारीख को मुंबई में राजामौली की बहुचर्चित फिल्म ''बाहुबली 2 '' भव्य प्रीमीयर  होना था  लेकिन अभिनेता विनोद खन्ना के निधन के कारण उसे भी कैंसिल कर दिया गया। देशवासियों ने अपने प्रिय अभिनेता को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। विनोद खन्ना सदैव एक बेहतरीन अभिनेता के रूप में याद किया जायेंगे। 

No comments:

Post a Comment